• Tue. Jun 25th, 2024

आपका समाचार

आपसे जुड़ी ख़बरें

India’s Mission To Sun : अब सूर्य की ओर बढ़े भारत के कदम।

भारत के कदम सूर्य की ओरpic by - The Engineer Bro

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने चंद्रयान 3 के सफल लॉन्च के बाद अपने अगले अत्यंत महत्वपूर्ण मिशन “मिशन आदित्य एल1” की तैयारी शुरू कर दी है। यह मिशन सूर्य को निकटतम दूरी से अध्ययन करने का लक्ष्य रखता है। “आदित्य एल1” नामक इस मिशन के माध्यम से सूर्य की उपग्रहवाची लगभग 1.5 दिनी यात्रा पर भेजी जाएगी।

मिशन आदित्य एल1 का मुख्य उद्देश्य सूर्य की कक्षा का अध्ययन करके इसकी जीवनुका और अंतरिक्ष तेजी को समझना है। इसके जरिए सूर्य के उपग्रहवाची में होने वाली परिवर्तनों, सूर्यग्रहण, खगोल विज्ञान, अंतरिक्ष मौसम के तथ्यों, रेडिएशन और मैग्नेटिक बिजली जैसी महत्वपूर्ण विषयों पर विशेषज्ञता प्राप्त की जाएगी।

आदित्य एल1 मिशन विशेष रूप से सूर्य के उदय से पहले उसके आकारिक अध्ययन को संभव बनाएगा। सूर्य की प्राकृतिक क्रियाओं, सूर्यमंडल, और उसके अग्निकुंड के लोगों के लिए विज्ञानिक और अनुभवी मिशन आदित्य एल1 ने वैज्ञानिक समुदाय के बीच एक उत्साह उत्पन्न किया है।

इस मिशन की योजना के अनुसार, सूर्य के निकट आकर्षणीय लगातार उपग्रहवाची को पहले तो सूर्य से अलग और आंतरिक आकार में भेजा जाएगा, और फिर उसे सूर्य के निकटतम दूरी पर ले जाने के लिए कुछ विशेष तकनीक का उपयोग किया जाएगा।

यह मिशन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान के लिए गर्व का समय है, जो सूर्य के रहस्यमय विश्व को समझने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। मिशन आदित्य एल1 के सफल लॉन्च से भारत अंतरिक्ष अनुसंधान में एक बड़ा कदम आगे बढ़ाएगा और वैश्विक अंतरिक्ष जागरूकता में भी अहम योगदान देगा।

यह मिशन अगस्त में लॉन्च किया जाने की उम्मीद है। यह भारत का पहला मिशन होगा जो सूर्य का अध्ययन करने के लिए भेजा जाएगा।

 

चंद्रयान – 3 के बारे में पढ़ने के लिए हमारे इस पोस्ट को रेफर करें –

Chandrayan – 3 : लॉन्च से पहले जानिए चंद्रयान – 3 में क्या है खास

 

आप इसरो के इस कदम पर क्या सोचते है हमे कमेंट में बताएं.

हमारे खबरों के तुरंत अपडेट के लिए ट्विटर पर फॉलो करें – https://twitter.com/Aapka_Samachaar

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *