• Sat. Jun 15th, 2024

आपका समाचार

आपसे जुड़ी ख़बरें

G-20 की तैयारियां, नई दिल्ली जैसे आपने पहले कभी नही देखी होगी।

G-20

• सौंदर्यीकरण में वृद्धि , जल सुविधाओं पर ध्यान केंद्रित,  बगीचो/हरित क्षेत्र में सुधार, बुनियादी ढांचे में सुधार,  मौसमी चुनौतियां और तैयारियां , G-20 थीम को प्रोत्साहन , G-20 और समुदाय संगठन

नई दिल्ली, 10 अगस्त, 2023 :-

आगामी G-20 समिट और नई दिल्ली के सौंदर्यीकरण को ध्यान में रखते हुए, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) दिन-रात कर रही कठिन परिश्रम – यह सूचना नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के उपाध्यक्ष-श्री सतीश उपाध्याय ने परिषद द्वारा अपने क्षेत्र में चल रही तैयारियों और परियोजनाओं की जानकारी देते हुए कही, जो माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के दूरदर्शी नेतृत्व के तहत जी20 प्रतिनिधियों के स्वागत और भारत की G-20 अध्यक्षता की सफलता में योगदान देने के लिए की जा रही है ।

उन्होंने कहा कि एनडीएमसी के अध्यक्ष – श्री अमित यादव, एनडीएमसी की सचिव – डॉ. अंकिता चक्रवर्ती और पूरे एनडीएमसी टीम शामिल है, जिन्होंने G-20 से संबंधित परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा किया और कर रहे हैं । इस प्रशंसा का महत्व उनके योगदानों की और G-20 पहलू के साथ संबंधित कार्यों के सफलतापूर्वक करने की दिशा में है। उन्होंने कहा कि भारत के G20 की अध्यक्षता के दौरान वैश्विक एजेंडा और इसकी प्राथमिकताओं को बढ़ावा देना है ।

श्री उपाध्याय ने बताया कि नई दिल्ली शहर की सुन्दरता बढ़ाने के लिया विभिन्न आकर्षित मूर्तियों को महत्वपूर्ण स्थानों जैसे – पंचशील मार्ग, कमाल अतातुर्क मार्ग, कौटिल्य मार्ग, राजाजी मार्ग, तीन मूर्ति मार्ग, विनय मार्ग में मार्बल शेर, पोलो घोड़े, घोड़ा परिवार और बुद्ध किसम शामिल हैं।

जी-20 जी-20

उन्होंने कहा की जल सुविधाओं पर ध्यान केंद्रित करते हुए, प्रमुख स्थलों पर फव्वारे स्थापित किए गए हैं, और कई अन्य स्थानों पर स्थापना प्रक्रिया चल रही है। अब तक शेर शाह रोड, जाकिर हुसैन मार्ग, पंडारा रोड, अकबर रोड, कनॉट प्लेस, केजी मार्ग, जनपथ, संसद मार्ग, तीन मूर्ति मार्ग, राजाजी मार्ग, हैदराबाद हाउस, कोपरनिकस मार्ग और पुराना क़िला रोड जैसी जगहों पर फव्वारे द्वारा मनमोहकता बढ़ाई गई है।

 

इससे जुड़े और फोटोज आप हमारे ट्विटर पर देख सकते हैं

उन्होंने बताया कि एनडीएमसी के उद्यान विभाग ने अपने प्रयासों से 32 प्रमुख सड़कों के साथ-साथ हरित स्ट्रिप्स बनाने में समर्पित किया है। 80,000 पॉटेड पौधे प्रदर्शन के लिए पूरे किए गए हैं, जिनके साथ G20 थीम की फूलों की पट्टियाँ विभिन्न स्थलों की सजावट कर रही हैं। बागवानी उन्नतियों लगभग समाप्त हो रही हैं और नियमित निगरानी के तहत सतत देखभाल की जा रही है। एनडीएमसी का पर्यावरण के प्रति समर्पण को ध्यान में रखते हुए नेताजी नगर, अकबर रोड, अशोक रोड, बीकेएस मार्ग, जोर बाग आदि सहित प्रमुख क्षेत्रों में नए पेड़ों से सजीव की गई है। इसके अलावा, उद्यान विभाग शैक्षिक संस्थानों के भीतर पौधों को लगाने में जुटा है, जैसे कि नवयुग स्कूल लक्ष्मी बाई नगर, एन.पी. स्कूल हैवलॉक स्क्वेयर, अटल आदर्श गर्ल्स स्कूल तिलक मार्ग आदि पौधारोपण कार्यक्रम किया गया ।

उन्होंने बताया कि इस प्रयास में चंपा, तामरिंद, अशोक, अल्स्टोनिया, और नीम जैसे विभिन्न पेड़ों के प्रजातियों को लगाया गया है। 2 हजार पेड़ों और 43 लाख पौधों का प्रभावशाली लक्ष्य तय किया गया है, जो पार करते हुए 3 हजार पेड़ और 28 लाख पौधे लगाए जा चुके हैं जिससे एनडीएमसी का पर्यावरण के प्रति समर्पण पुनः प्रमाणित होता है।

उन्होंने कहा कि एनडीएमसी के सिविल विभाग ने कनॉट प्लेस के आकर्षण को पुनर्संरचना करने में समर्पित रूप से काम किया है। अब तक, कनॉट प्लेस के बाहरी और आंतरिक वृत्तों की भित्ति चित्रण की 85% काम किया गया है, और शेष काम स्थिरता से प्रगति कर रहा है जो जल्द ही पूरा किया जाने का योजना बनाई गई है।

श्री उपाध्याय ने बताया कि 41 सड़कों पर मरम्मत कार्य, सोलर रेज़्ड पेवमेंट मार्कर्स की स्थापना और थर्मोप्लास्टिक पेंट लगाने सहित बुनाई के अभियांत्रिकी का काम लगभग 90% पूरा हो चुका है। रंजीत सिंह और सफदरजंग फ्लाईओवर के साथ बहुरंगे एलईडी लाइट्स, फ्लड लाइट्स, भूमिगत विद्युत केबल, और राष्ट्रीय ध्वज स्थापित किया गया है।
जून 2023 के महीने में हुए भारी बारिश के चुनौतियों का समाधान करने के लिए एनडीएमसी ने त्वरित कदम उठाये हैं। 100 से अधिक पोर्टेबल पंप को तर्कसंगत स्थानों पर रखा गया है, जिनमें लोधी एस्टेट, भारती नगर, गोल्फ लिंक, और दयाल सिंह कॉलेज क्षेत्र शामिल हैं। नियंत्रण कक्ष और संचालन टीमें बनाई गई है ताकि इन पंप्स का अविभाज्य कामना किया जा सके, और एनडीएमसी क्षेत्र में ड्रेनों में सफाई का काम भी सक्शन मशीन के माध्यम से किया गया ।
उन्होंने कहा कि भारत की G20 प्रेसीडेंसी “वसुधैव कुटुंबकम” या “एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य” थीम के साथ G20 के काम का मार्गदर्शन कर रही है, जो महा-उपनिषद के संस्कृत वाक्यांश से प्रेरित है, जो इस विचार पर जोर देता है कि “विश्व एक परिवार है।” जी20 के बारे में जागरूकता और भारत की अध्यक्षता में इसके महत्व को बढ़ावा देने के लिए, एनडीएमसी ने पहले ही अपने स्कूलों में छात्रों को इसके बारे में जागरूक करने के लिए जी20 से संबंधित विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया है। इनमें पोस्टर मेकिंग, पेंटिंग और ड्राइंग प्रतियोगिताएं, भाषण प्रतियोगिताएं, क्विज़, निबंध प्रतियोगिताएं, वाद-विवाद आदि शामिल थे।

रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (आरडब्ल्यूए), मार्केट ट्रेडर्स एसोसिएशन (एमटीए) और अपने क्षेत्र में नागरिकों को संवेदनशील बनाने के लिए, एनडीएमसी ने अपने प्रमुख पार्कों में स्पिक मैके के सहयोग से सांस्कृतिक कार्यक्रम और उद्यान विभाग द्वारा, फ्लावर-शो का आयोजन किया । इन कार्यक्रमों का उद्देश्य स्थानीय समुदाय को जुड़ने और G20 थीम को प्रमोट करना था। श्री उपाध्याय ने बताया कि एनडीएमसी सक्रिय रूप से विभिन्न कार्यक्रम, सेमिनार और मीटिंग का आयोजन किया । श्री उपाध्याय ने एमटीए, आरडब्ल्यूए, स्कूल, कॉलेज, गैर-सरकारी संगठनों, निजी कार्यालयों और दिल्ली की अन्य संगठनों को आग्रह पत्र भेजे, जिनमें उन्होंने उन्हें G20 संबंधित घटनाओं और कार्यक्रमों में सक्रिय भागीदारी के लिए प्रेरित किया, जैसे कि बाजार क्षेत्र में नुक्कड़ नाटक, G20 लोगो का प्रदर्शन आदि ।

उन्होंने कहा कि भारत 15 अगस्त 2023 को अपने 77वें स्वतंत्रता दिवस की तैयारी कर रहा है, जिससे 76वें स्वतंत्रता के साल को चिह्नित किया जा रहा है, वैसे ही “आजादी का अमृत महोत्सव” से राष्ट्र की गर्वनिष्ठता को बढ़ावा मिलता है। यह महत्वपूर्ण अवसर भारत की जी-20 प्रेसिडेंसी की मूल विशेषता के साथ मिलकर राष्ट्र की समृद्ध संस्कृति और धरोहर को एक वैशिष्ट्यपूर्ण मंच पर प्रदर्शित करने का एक अद्वितीय अवसर प्रस्तुत करता है, जो वैश्विक मंच पर होगा।

हमारे खबरों के तुरंत अपडेट के लिए ट्विटर पर फॉलो करें – https://twitter.com/Aapka_Samachaar

आप इस विषय पर क्या सोचते हैं। और अपना सुझाव भी हमे कमेंट में बताएं.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *