• Sat. Jun 15th, 2024

आपका समाचार

आपसे जुड़ी ख़बरें

राघव चड्ढा ने फर्जी सिग्नेचर मामले पर भाजपा को नियमों का पाठ पढ़ाया

राघव चड्ढा

बीजेपी ने आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा पर दिल्ली सेवा बिल के लिए प्रस्ताव में फर्जी साइन का आरोप लगा रही है। वहीं आम आदमी पार्टी पूरे मामले को लेकर बीजेपी पर झूठ फैलाने की बात कर रही है। वही इस पूरे मामले को लेकर आ जा आम आदमी पार्टी की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस का अहम जानकारी दी गई है।

इस दौरान आम आदमी पार्टी के सभी राज्यसभा सदस्य इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने बीजेपी पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया है संजय सिंह ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है जो भी इनके खिलाफ सदन में बोलता है उसके खिलाफ कार्रवाई करते हैं किस प्रकार से लोगों ने राहुल गांधी की सदस्यता को रद्द करवाया उसी प्रकार से अब यह लोग राघव चड्ढा की सदस्यता को रद्द करवाना चाहते हैं लेकिन मैं बता देना चाहता हूं कि राघव चड्ढा की अगर सदस्यता रद्द होती है हम दोबारा चुनाव लड़ेंगे फिर चुनकर आ जाएंगे राघव चड्ढा के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी झूठ फैला रही है।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी इस समय झूठ की सबसे बड़ी फैक्ट्री है देश में यह लोग तानाशाही सरकार चलाना चाहते हैं। जो कोई इनके खिलाफ बोलता है उसके घर ईडी, सीबीआई भेजते हैं, उसका दर दिखाते है। एफआईआर कराते हैं सदन से बाहर करवा देते हैं निलंबित करवा देते हैं और यह लोग लोकतंत्र की दुहाई देते हैं।

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चड्डा ने कहा है कि जब भी कोई नोटिस आएगा, उसका प्रभावी और विस्तार पूर्वक जवाब दिया जाएगा। पूरे मामले में आम आदमी पार्टी ने अपने बयान में स्पष्ट किया है कि संसदीय नियमों और प्रक्रिया के अनुसार चयन समिति को सदस्यों के नाम प्रस्तावित करने से पहले किसी भी प्रकार के हस्ताक्षर या लिखित सहमति की आवश्यकता नहीं होती है। चूंकि इसमें न तो किसी हस्ताक्षर की आवश्यकता है और न ही कोई हस्ताक्षर प्रस्तुत किया गया है।

इसलिए हस्ताक्षरों की गलत व्याख्या का कोई सवाल ही नहीं बनता है राघव चड्ढा ने दावा किया है कि नियम साफ तौर से कहते हैं कि यदि सदस्यों का समिति का हिस्सा बनने का कोई इरादा नहीं है तो उनके नाम वापस लिए जा सकते हैं. सच यह भी है कि इस मामले को विशेषाधिकार समिति द्वारा मामले में जारी किए गए संसदीय बुलेटिन में कहीं भी जाली, जालसाजी, चिह्न या हस्ताक्षर जैसे किसी शब्द का उल्लेख नहीं है।

सांसद राघव चड्ढा ने आज बीजेपी पर जमकर हमला बोला है उन्होंने कहा है कि आज भारतीय जनता पार्टी के लोग आम आदमी की बढ़ती लोकप्रियता से डर रहे हैं इन लोगों को चुप रहा है कि 34 साल का एक लड़का युवा सांसद किस तरह से सदन में बोल रहा है। भारतीय जनता पार्टी मेरी सदस्यता रद्द कराए जाने को लेकर तमाम हथकंडे अपना रही है जिस प्रकार से इन लोगों ने सांसद राहुल गांधी की सदस्यता को रद्द करवाया इस प्रकार से यह लोग मेरे पीछे पड़े हुए हैं लेकिन यह आम आदमी पार्टी है इसे डरने वाली नहीं है कितनी भी है हाथ गंदे अपना ले और मैं कहना यह भी चाहता हूं कि जिन लोगों ने हमारे खिलाफ मीडिया वालों ने गलत खबर चलाई है उनके खिलाफ भी मैं कार्रवाई करवाऊंगी और जो भी सांसद है जो झूठा देश प्रचार कर रहे हैं उनके खिलाफ भी हम कार्रवाई करेंगे।

उन्होंने कहा कि सेलेक्ट कमेटी में किसी का नाम देने के लिए सिग्नेचर की जरूरत नहीं होती शायद यह नियम देश के गृहमंत्री अमित शाह नहीं जानते बीजेपी के खिलाफ मुकाबला करना आसान नहीं है क्योंकि यह सबसे बड़ी पार्टी खुद को कहते हैं लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि इस समय यह झूठ की सबसे बड़ी पार्टी है झूठ फैलाने में माहिर है और जिन जिन लोगों ने मेरे खिलाफ साजिश रची है उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

राघव चड्ढा ने हाथ जोड़कर मीडिया से अनुरोध करता हूं कि वे सच्चाई दिखाएं। मीडिया का एक छोटा वर्ग मेरे खिलाफ दुष्प्रचार कर रहा था और मुझे उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करानी होगी। मुझे उन सांसदों के खिलाफ भी कोर्ट और विशेषाधिकार समिति में शिकायत दर्ज करानी होगी जिन्होंने दावा किया था कि फर्जी हस्ताक्षर थे। आप सांसदों का आरोप है कि उनकी सहमति के बिना AAP सांसद राघव चड्ढा ने दिल्ली एनसीटी संशोधन विधेयक को सेलेक्ट समिति को भेजने के लिए प्रस्ताव में उनके नाम का उल्लेख किया।

 

हमारे खबरों के तुरंत अपडेट के लिए ट्विटर पर फॉलो करें – https://twitter.com/Aapka_Samachaar

आप इस विषय पर क्या सोचते हैं। और अपना सुझाव भी हमे कमेंट में बताएं।

By Rohit

सीवान से आते हैं इसलिए राजनीति ब्लड के साथ ही लेकर आए हैं। कुछ काम नहीं है इसलिए लिखने का काम शुरु कर दिया। बाकी क्वालिटी के नाम पर बकैती के अलावा कुछ नहीं सिर्फ काम करवा लो चाहे जितनी मर्जी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *